भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

नज़्म / मुज़फ्फ़र ‘आज़िम’

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बाँध रख सकेगी हवा को मुट्ठी में?
झुला सकेगी लपटों को गोदी में?
तो फिर यहां
किसे आई भरमाने,
पगली!