भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

पतझड़ के विरुद्ध / स्वरांगी साने

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

सुनो बड़ !

तुम्हें पूजती हैं औरतें इस मुल्क की
और तुम
पूरी करते हो
सबकी मनौतियाँ

इतना तो बताओ
तुमने कहाँ से माँगी मनौती
पतझड़ के विरुद्ध
हर बार हरे होने की।