भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

पहला प्रेम / दीपिका केशरी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

किसी मीन की आँख
किसी पत्थर की तराश
कटी पतंग के पीछे बच्चों का दौड़ना
सर झुका कर
किसी और के लिए दुआ माँग लेना
चाँद को अपना महबूब मान लेना
किसी एक स्पर्श को माँ के स्पर्श के साथ रख लेना
पहला प्रेम
जिसे सोचने भर से ही आँखों का मुस्कुरा जाना !