भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

पिया भरती मैं होले ना / हरियाणवी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

पिया भरती मैं होले ना पट्टजा छतरापन का तोल
जरमन में जाके लड़िए अपने मां बापां का नां करिए
तैं तोपां के आगे अड़िए अपणी छाती ने दे खोल
पिया भरती में होले ना पट्टजा छतरापन का तोल