भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

प्यार जब ख़ामोशियों की राह चलकर आए है / शिवशंकर मिश्र

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

प्यार जब खामोशियों की राह चलकर आए है
होता है ऐसे हाल में दिल पर असर भी देर से
वे मेरी मय्यत पे आएं, यह मेरी किस्मत कहाँ
जाते-जाते जाएगी उन को खबर भी देर से