भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

प्रेम-2 / सुशीला पुरी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

प्रेम
एक बहुत ऊँचा
पेड़ है
जिस पर चढ़ना मुश्किल

बस,
करनी होती है प्रतीक्षा
कि आएगा कोई पक्षी
जो खाकर ही सही
गिरा देगा एक मीठा फल,

और जब
मिलता है वो
तो उसका काफ़ी हिस्सा
पहले ही खाया जा चुका होता है...!