भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

प्रेम-4 / अर्चना भैंसारे

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कैसे सुन लेते हो
तुम
गहरी नींद में भी
मेरे पैरों की आहट
और जाग जाते हो
आधी रात गए
बिना चौंके...