भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

प्रेम के गीत / भावना कुँअर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


पूनम चाँद
है आया देखो कैसे
अँधेरा फाँद।
दूधिया- सी चूनर
सिर पे ओढ़े
छम-छम करती
चाँदनी आई
अनगिनत सपने
संग में लाई।
जीभर के रचेंगे
प्रेम के गीत
बिझड़े हुए मीत।
जुगनू संग
छेड़ेंगे मिल-जुल
प्रेम -भरा संगीत।