भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

बच्चा पूछता है सूर्य के बारे में / वर्नर अस्पेंसट्रोम

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

प्रकाश का श्वेत झरना
बादलों के मध्य से, पत्तों के मध्य से
और बच्चे के प्रश्नों की चक्की से:
क्यों और क्यों?
संसार की सरलताएं नहीं की जा सकतीं
व्याख्यायित. न घास,
न प्रकाश का झरना, वह श्वेत,
अश्रव्य.

(मूल स्वीडिश से अनुवाद : अनुपमा पाठक)