भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

बान डो बनवासी का घेरु माय भेरिया जाजोम वीले / कोरकू

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

   ♦   रचनाकार: अज्ञात

बान डो बनवासी का घेरु माय भेरिया जाजोम वीले
भेरिया जाजोम बीले डो माय सोने कि दिवा वाले
सोने कि दिवा डो माय सोने कि दिवा उजाला में
कैनिया कुंवर खेले डो माय राजा खुडुमा खुडु हासे जाजोम बीले
रीटा जाजोम बीले डो माय कासे की ढिवा बाले
कासे कि ढिवा उजारेनी सीटा मीनू ख्याले
सीटा मीनू ख्याले डो मारा राजा जाम लान्जे

स्रोत व्यक्ति - पार्वती बाई, ग्राम - मातापुर