भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

बोऊहो बोऊडो / कोरकू

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

   ♦   रचनाकार: अज्ञात

बोऊहो बोऊडो
बोऊहो बोऊडो
काई ओ बोऊडो आना कोना
काई ओ बोऊडो आना कोना
फिर ऽ ओ सासु ओ सासु
फिर ऽ ओ सासु ओ सासु
सासु जागीया दुखे मारी सासु ओ
सासु जागीया दुखे मारी सासु ओ
आना कोना फिर ऽ ओ सासु
आना कोना फिर ऽ ओ सासु
हो सासु मारी हो सासु
हो सासु मारी हो सासु
इयां लाज कासू लाकेन
इयां लाज कासू लाकेन
सुयीनी सानी के सालेज ओ
सुयीनी सानी के सालेज ओ
सासु ओ...

स्रोत व्यक्ति - माखन, ग्राम - आमाखाल