भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

भावना / बद्रीप्रसाद बढू

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


जैले मेरो हृदय बिचरो भावनाले भरिई
टिल् पिल् टिल् पिल् सरि हुन गई पोखिने गर्न थाल्छ
लेख्ने गर्छु अलि अलि अनि जिन्दगी शान्त हुन्छ
जस्मा मेरो मृदुल मुटुको भावना व्यक्त हुन्छ//