भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

भीड़ में ऐसे कोई इंसान की बातें करे / विनोद तिवारी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

भीड़ में ऐसे कोई इन्सान की बातें करे
जैसे पत्थर के बुतों में जान की बातें करे

झूठ को सच पर जहाँ तरजीह देना आम हो
कौन होगा जो वहाँ पर ज्ञान की बातें करे

है तो ख़ुशफ़हमी महज़, लेकिन बहस से फ़ायदा
शाप-ग्रस्तों से कोई वरदान की बातें करे

मंज़िलों की ओर बढ़ना है तो चलते ही रहो
लाख दुनिया गर्दिशो-तूफ़ान की बातें करे

जो स्वयं चल पाए काँधे पर लिए अपनी सलीब
हक़ बजानिब है , वही, ईमान की बातें करे