भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

भूचाल जो मेरा मकान तोड़ जाएगा / ज्ञान प्रकाश विवेक

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

भूचाल जो मेरा मकान तोड़ जाएगा
मुमकिन है अपने अश्क बहाँ छोड़ जाएगा

अंधा फ़क़ीर और फिर ये अजनबी शहर
जो भी मिलेगा उसको ग़लत मोड़ जाएगा

वो ख़ाली अब्र है तो क्या होंठों पे रख के देख
अपने बदन की कुछ तो नमी छोड़ जाएगा

तू काँच की ख़ुशी को सँभालेगा कब तलक
कोई उदास लम्हा उसे तोड़ जाएगा

नुकसान और लाभ का उसको पता नहीं
बालक है, एक साथ इन्हें जोड़ जाएगा.