भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

मधुगीत / हरिवंश राय बच्चन / विलियम बटलर येट्स

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अधरों पर आती है मदिरा,
आँखों में आता है प्यार;
बूढ़े हो मरने के पहले
पड़ना है अपने तो पल्ले
इतना ही जीवन का सार;
मैं शराब का जाम उठाता,
तुमको अपने आगे पाता,
देता उसको तुम पर वार !
अधरों पर आती है मदिरा,
आँखों में आता है प्यार !

मूल अँग्रेज़ी से हरिवंश राय बच्चन द्वारा अनूदित

लीजिए अब पढ़िए यही कविता मूल अँग्रेज़ी में
        William Butler Yeats
            A Drinking Song

Wine comes in at the mouth
And love comes in at the eye;
That’s all we shall know for truth
Before we grow old and die.
I lift the glass to my mouth,
I look at you, and I sigh.