भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

माँ / नीलम पारीक

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

माँ
तू तो कैंवती
के बेटियां चिड़कली होवे
उड़ जावे एक दिन
पर माँ
चिड़कली तो खुले आकास में उड़े
मैं चिड़कली हूँ तो
कठे है मेरो आकास...???