भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

मीना कुमारी के लिए / कुमार मुकुल

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

दर्द
तुम्‍हारी आंखों में नहीं
हमारी रगों में होता है

छू देती हैं निगाहें
उभर आता है दर्द
फफोले-फफोले।