भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

मेरा धैर्य / सैयद शहरोज़ क़मर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मेरा धैर्य चट्टान सा
लोगों का धैर्य टूटता सा
सब पूछते हैं
आख़िर कब तक
आख़िर कब होगा तब्दील हिमालय में
और कितनी देर बाद
निकलेगी गंगा
जिस्म में संयम की सर्द
नर्म करने के लिए