भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

मेरी मित्रता के लायक / ईमान मर्सल

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मुखपृष्ठ  » रचनाकारों की सूची  » रचनाकार: ईमान मर्सल  » मेरी मित्रता के लायक

अपनी नाक ऊंची रखने के लिए
अफ़वाह फैलाते लोग,
चरस-गांजा के शौक़ीन और मनोविश्लेषण करने वाले,
सरकार के खि़लाफ़ आंदोलन करने वाले,
बेवफ़ाई की सैद्धांतिकी गढऩे वाले,
अपने पुरखों के नामों मे से अपने लिए
एक यादगार नाम खोजते रहने वाले,
अपने ही भीतर लगातार सुधार करने वाले,
कचरा जितने ईमानदार,
दूर से ही थोड़े निराशावादी
और दयालु, इसलिए कि दयालु हुए बिना कोई चारा ही नहीं

ये सारे लोग जो दिखने में मुझ जैसे हैं
और मेरी मित्रता के लायक़ हैं
ये सब जिन्हें तुमने मेरे लिए बनाया है
बहुतायत में हैं इस साल
मेरे ख़ुदा
अपने सारे तोहफ़े वापस ले जाओ
और नए-नए दुश्मन भेजते रहने का अपना वादा
कभी मत तोडऩा

अंग्रेजी से अनुवाद : गीत चतुर्वेदी