भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

यह लालटेन / नरेश अग्रवाल

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

सभी सोए हुए हैं
केवल जाग रही है
एक छोटी-सी लालटेन

रत्ती भर है
प्रकाश जिसका
घर में पड़े अनाज जितना

बचाने के लिए जिसे
पहरा दे रही है यह
रात-भर ।