भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

ये चन्दा बरन उजियारी / बघेली

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बघेली लोकगीत   ♦   रचनाकार: अज्ञात

ये चन्दा बरन उजियारी राधा
चन्दा बरन उजियारी
दस अंगुरी दस मुंदरी सोहैं
बाजूबन्द चौलारी
ये चन्दा बरन उजियारी राधा
ये गर सोहै मोतिअन के माला
हीरा लगे हजारी
चन्दा बरन उजियारी राधा
ये लेसे दिअना खड़ी अंटारी
चन्दा बरन उजियारी राधा
ये सुर श्याम ऐसे मन मोहन
खेलंइ पन्सासारी
राधा चन्दा बरन उजियारी
राधा चन्दा बरन उजियारी राधा
चन्दा बरने उजियारी