भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

ये मोरांगी डो ये मोरांगी आमानी / कोरकू

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

   ♦   रचनाकार: अज्ञात

ये मोरांगी डो ये मोरांगी आमानी
ये मोरांगी डो ये मोरांगी आमानी
ये मोरांगी डो ये मोरांगी आमानी
उरा टोले मा अरुकेन डो मोरांगी रे
उरा टोले मा अरुकेन डो मोरांगी रे
इयां उरा कजलीवन डो बिंदरावनेन नी आरु मारे
इयां उरा कजलीवन डो बिंदरावनेन नी आरु मारे
इयां उरा कजलीवन डो बिंदरावनेन नी आरु मारे
ये मोरांगी डो ये मोरांगी
ये मोरांगी डो ये मोरांगी
सूबा नी पडूबे इया कूरई डो अजूमे मारे
सूबा नी पडूबे इया कूरई डो अजूमे मारे
सूबा नी पडूबे इया कूरई डो अजूमे मारे
ये झलजा जा ये झलजा
ये झलजा जा ये झलजा
मिया नी गीड़ी आमा सूसून नी घाले मारे
मिया नी गीड़ी आमा सूसून नी घाले मारे
मिया नी गीड़ी आमा सूसून नी घाले मारे
ये मोरांगी डो ये मोरांगी सूसूना जागा डो
ये मोरांगी डो ये मोरांगी सूसूना जागा डो
ये मोरांगी डो ये मोरांगी सूसूना जागा डो
डोगे डो मिया का खाटा नी बोचोगे मारे
डोगे डो मिया का खाटा नी बोचोगे मारे
डोगे डो मिया का खाटा नी बोचोगे मारे

स्रोत व्यक्ति - लक्ष्मण पर्ते, ग्राम - मुरलीखेड़ा