भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

लहरों का सन्तोष / बलदेव वंशी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

लहरें नहीं जानतीं
मुसाफ़िर का नाम
उद्देश्य का काम
लहरों पर नहीं लिखा
पार उतरने
या डूबने वालों का इतिहास
उनके हिस्से आता है
डूबे जहाज़ों का मलबा
या पार उतरों का उल्लास
लहरों को
इतने में सन्तोष है !...