भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

लाला लाला लोरी दूध भरी कटोरी / हरियाणवी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

लाला लाला लोरी दूध भरी कटोरी
लाला की मां पाणी जा, लाला दूध मलाई खा
लाला रे ललणिया रे बारह गज का तणिया रे
चंदा मामा आयेगा दूध मलाई लायेगा