भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

लिप्त कालीयक तनों पर... / कालिदास

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मुखपृष्ठ  » रचनाकारों की सूची  » रचनाकार: कालिदास  » संग्रह: ऋतुसंहार‍
»  लिप्त कालीयक तनों पर...

लो प्रिये हेमन्त आया!


लिप्त कालीयक तनों पर

सुरत उत्सव का प्रसाधन,

सुखकमल पर दिख रहा

कस्तूरिका का पत्र लेखन,

चिकुर कालागुरु सुगंधित

धूप से, यों तन सजाया

लो प्रिये हेमन्त आया!