भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

लोरी / हरिवंश राय बच्चन / विलियम बटलर येट्स

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

स्वर्गदूतों से घिरा तुम्हारा
सुन्दर बाल-खटोला है;
कहते, ’मुरदे कितने टेढ़े !
बच्चा कितना भोला है !’

तुमको अच्छा देख अमरगण
अम्बर में मुसकाते हैं,
और तुम्हारा जीवन-मंगल
नभ-सप्तर्षि मनाते हैं ।

चूम रही हूँ तुमको लेकिन
सोच इसे भरती हूँ आह,
होगे जब तुम बड़े, करोगे
क्या इस चुम्बन की परवाह ।

मूल अँग्रेज़ी से हरिवंश राय बच्चन द्वारा अनूदित

लीजिए अब पढ़िए यही कविता मूल अँग्रेज़ी में
         William Butler Yeats
              A Cradle Song

THE angels are stooping
Above your bed;
They weary of trooping
With the whimpering dead.

God's laughing in Heaven
To see you so good;
The Sailing Seven
Are gay with His mood.

I sigh that kiss you,
For I must own
That I shall miss you
When you have grown.