भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

विषाद - 3 / विजेंद्र एस विज

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

उसने पाताल से निकलकर
लिखी एक कविता...
विजय पा ली
अपने गिरते आत्म विश्वाश पर..
शून्यता से दूर
गगन में तारों के साथ
खेलने लगी...
उसने एक कविता लिख दी
संसार रच डाला...