भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

संकलन का सामान्य परिचय

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

  • हाइकु-1989 और हाइकु-1999 के बाद हाइकु का तीसरा संकलन "हाइकु 2009" का लोकार्पण इनमेनटेक संस्था के सभागार में गीताभ संस्था के वार्षिक समारोह में हुआ।
  • समारोह की अध्यक्षता हिन्दी के सुप्रसिद्ध साहित्यकार डा० शेरजंग गर्ग ने की, मुख्य अतिथि थे प्रसिद्ध नवगीतकार यश मालवीय, विशिष्ट अतिथि प्रसिद्ध साहित्यकार डा० वेदप्रकाश अमिताभ थे। कार्यक्रम का संचालन कमलेश भट्ट 'कमल' ने किया।
  • लोकार्पण के उपरान्त डा० जगदीश व्योम ने हाइकु-२००९ पर विचार व्यक्त करते हुए कहा कि संकलन में जन्मानुसार ०४ जनवरी १९२५ से लेकर ०४ जुलाई १९८२ तक के कुल ५७ वर्षों के हाइकुकारों को समाहित किया गया है।
  • संकलन के प्रथम हाइकुकार पद्मश्री गोपालदास "नीरज" और अन्तिम हाइकुकार हैं नवल बहुगुणा
  • संकलन में ६० हाइकुकारों की ७ - ७ हाइकु कविताओं को सम्मिलित किया गया है।
  • पाँच प्रवासी भारतीय भी संकलन में शामिल हैं।