भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

सूरज / अनुप्रिया

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

रात का
स्याह और गहरा रंग
अब
बदल रहा है
सुना है
उसकी कोख में
सूरज पल रहा है।