भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

हाथ-1 / ओम पुरोहित ‘कागद’

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

ख़ुदा देता है
सब को
दो-दो हाथ
जन्म के साथ ही
दुआ-दया-खिदमत
इनायत के लिए

फ़िर भी
कुछ लोग
दो-दो हाथ
कर लेने का
भ्रम पालते हैं

फ़िर
उठ ही जाते हैं हाथ
बद सबब में ।