भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

अंतर में विश्वास जगाओ / अजय अज्ञात

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अंतर में विश्वास जगाओ
उम्मीदों के दीप जलाओ

जीते जी हिम्मत मत हारो
बाधाओं से जा टकराओ

संयम और समझ से अपनी
हर मुश्किल आसान बनाओ

कर लो दूर उदासी मन की
होठों पर मुस्कान सजाओ

पीछे मुड़़ कर मत देखो तुम
जीवनपथ पर बढ़ते जाओ

कोई मौका मत चूको तुम
हर अवसर का लाभ उठाओ