भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

नीति होय चेम्बर चालाकी होय चर्चिल सी / नाथ कवि

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

नीति होय चेम्बर चालाकी होय चर्चिल सी,
हठ होय हिटलर सौ वीर ताहि मानिये।
मित्र हो अमेरिका सौ लोभी हो न इटली सौ,
क्रूरता जापान सी न दिल बीच आनिये।
रूस सौ हो स्वारथी जहाँन बीच जोपै ‘नाथ’,
ऐसे गुण होंय ताहि बादशाह जानिये॥