भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

हरापन नहीं टूटेगा. / रमेश रंजक

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
हरापन नहीं टूटेगा.
रचनाकार रमेश रंजक
प्रकाशक अक्षर प्रकाशन, 2/36, अंसारी रोड, दरियागंज, दिल्ली-110006 दिल्ली ।
वर्ष 1974, प्रथम संस्करण ।
भाषा हिन्दी
विषय गीत
विधा नवगीत
पृष्ठ 95
ISBN
विविध 1969 से 1973 तक के नवगीत। कविता कोश के लिए कवि रमेश रंजक का यह दुर्लभ संग्रह कवि रमेश तैलंग ने उपलब्ध कराया।
इस पन्ने पर दी गई रचनाओं को विश्व भर के स्वयंसेवी योगदानकर्ताओं ने भिन्न-भिन्न स्रोतों का प्रयोग कर कविता कोश में संकलित किया है। ऊपर दी गई प्रकाशक संबंधी जानकारी छपी हुई पुस्तक खरीदने हेतु आपकी सहायता के लिये दी गई है।

सन् १९६९

सन् १९७०

सन् १९७१

सन् १९७२

सन् १९७३